E-paperLife Styleकृषि/विज्ञान/टेक्नोलॉजीयुवाराजनीतिराज्य

सनमित्र फाउंडेशन” की ओर से “22 मार्च विश्व जल दिवस”का समापन​​

"जल ही जीवन है । "किशोर चौरे, अध्यक्ष, सनमित्र फाउंडेशन

पुणे (प्रतिनिधि ) २० मार्च :- सनमित्र फाउंडेशन की ओर से प्रतिवर्ष की तरह  पुणे इंटरनेशनल स्कूल विद्यानगर में  22 मार्च विश्व जल दिवस ​​मनाया गया।

     इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में स्कूल की चेयरमैन एडवोकेट रेनुकाताई चलावाडी उपस्थित थीं और उन्होंने छात्रों से पानी के बारे में बातचीत की और उनका मार्गदर्शन भी किया।

      बसपा प्रदेश सचिव,  मा. सुदीपजी गायकवाड़ ने छात्रों के साथ बातचीत के सवाल-जवाब का सत्र करके माहौल में उत्साह ला दिया। माननीय प्रदीपजी इथापे ने बहुमूल्य सहायता प्रदान की।

          संस्था के अध्यक्ष किशोर चौरेजी ने कहा कि, जल ही जीवन है. लेकिन इसका दूसरा पक्ष भी समझना चाहिए कि अगर पानी न हो तो दुनिया पर क्या-क्या विपदाएं आ सकती हैं?और उसके परिणाम क्या हो सकते हैं?

          2500 साल पहले जल विवाद के कारण सिद्धार्थ को अपना सिंहासन और घर छोड़ना पड़ा था, जल विवाद के कारण ही मानवता को सिद्धार्थ गौतम बुद्ध मिले थे।👌🙏👌

         आज 20 मार्च महाड़ का सत्याग्रह, बाबा साहब ने पानी का मुद्दा उठाया डॉक्टर बाबा साहब अंबेडकर दुनिया के एकमात्र नेता हैं, जिन्होंने पानी को सत्याग्रह का रूप दिया।

      किशोर चौरे ने छात्रों को विस्तार से बताया कि डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर ने दामोदर घाटी के लिए कैसे काम किया। 💧🙏💧

      किशोर चौरे ने छात्र-छात्राओं को विभिन्न तरीकों से पानी कैसे बचा सकते हैं इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी।💧🙏💧

      कार्यक्रम के अंत में विद्यार्थियों ने जल साक्षरता की शपथ ली तथा प्रत्येक विद्यार्थी को एक स्टीकर एवं प्रार्थना भेंट की। इस अवसर पर इंटरनेशनल स्कूल के आल्हाट सर ने अपना बहुमूल्य सहयोग दिया तथा उपस्थित विद्यार्थियों का आभार व्यक्त करते हुए कार्यक्रम का समापन किया गया।

 

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×