E-paperFoodsगुड मॉर्निंग न्यूज़टॉप न्यूज़देशयुवाराजनीतिराज्य

छात्रों की सुविधा के लिए कैंटीन गुणवत्ता नियंत्रण समिति के नए सदस्यों का उल्लेख एवं संपर्क नंबर लिखे। NSUI के सचिव अक्षय कांबले की मांग

SSPU प्रशासन अविलम्ब कार्रवाई करे अन्यथा NSUI तीव्र आंदोलन छेड़ेगा ऐसे पत्र द्वारा प्रशासन को सूचित किया है।

पुणे ( प्रतिनिधि ):- SSPU के बोर्ड पर कैंटीन गुणवत्ता नियंत्रण समिति के नए सदस्य के नाम का उल्लेख करना और बोर्ड पर नए सदस्यों संपर्क नंबर पर सामान्य साथी सदस्यों के नाम का उल्लेख  करने की NSUI के सचिव अक्षय कांबले की मांग ।

सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय में कैंटीन, भोजनालय, आश्रम, साथ ही किराना जीवनावशय्क वस्तु बिक्री केंद्र उपलब्ध हैं। इन सभी प्रयासों द्वारा प्रदान किया जाने वाला भोजन सर्वोत्तम और मितव्ययी होना चाहिए और इन सभी नियंत्रण प्रयासों के साथ, विश्वविद्यालय प्रशासन की आपत्तियों से युक्त ‘कैंटीन और कैंटीन शिखर सम्मेलन समिति’ ने 7 प्राध्यापकों की समिति और ‘उपहारगृह व भोजनगृह दक्षता समिती’ का गठन किया इस समिति में छात्रों को सम्लित किया हैं। शुरुआत में 4 सदस्यों का आवेदन आया और  विश्वविद्यालय में विभिन्न छात्र संगठनों और अन्य छात्र सदस्यों को शामिल करने के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे। लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। पिछले चार सदस्यों और नवनियुक्त सदस्यों के नाम का बोर्ड तत्काल लगाया जाए। और जो सामान्य सदस्य सामान्य सदस्य के बोर्ड पर पोस्ट किए जाते हैं उनमें संपर्क क्रमांक नहीं होता है।

 

अक्षय कांबळे ( सचिव महाराष्ट्र राज्य – राष्ट्रीय विद्यार्थीं काँग्रेस) ने बहिष्कृत न्यूज़ से कहा की, सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय में कुल १३ किस्म के मेस, भोजनगृह हैं। इन सभी जगहों पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने उपहारगृह दक्षता समिती के सदस्यों के नाम का बोर्ड लगाए हैं , लेकिन बोर्ड पर सदस्यों के संपर्क क्रमांक दिए नहीं हैं। अगर किसी छात्र को शिकायत करनी हैं तो वह विद्यार्थी संबंधित सदस्य से संपर्क कैसे करेगा। उसे उसकी पढाई भी महत्वपूर्ण होती हैं।

भोजनगृह गुणवत्ता नियंत्रण समिती के नाम निर्देशित छात्रों के नाम बोर्ड पर न डालने की वजह समझ से परे हैं, ऐसा राहुल ससाणे ( सदस्य – भोजनगृह गुणवत्ता नियंत्रण समिती ) ने बहिष्कृत न्यूज़ को बताया। उन्होंने आगे कहा की “नए सदस्य नियुक्ति के सम्बन्ध में विश्वविद्यालय प्रशाषणे अर्जियां मंगवाई थी, उसकी प्रक्रिया विश्वविद्यालय प्रशासन ने पूरी नहीं की। प्रशासन उसमे तुरंत बढ़ाव करेगी ऐसे उम्मीद है।”

भोजन संबंधी अगर किसी विद्यार्थी को  कोई शिकायत है, ऐसे में विद्यार्थी संबंधित सदस्य से संपर्क कैसे करेगा? ऐसा सवाल अक्षय कांबले ने उठाया है।  और  पत्र में मांग की हैं की, अगर सदस्यों को अपना नंबर देने में एतराज हो तो ऐसे सदस्यों की सदस्ता तुरंत प्रभावसे निकाल देना चाहिए और नए प्राध्यापक सदस्यों को सम्लित किया जाए। इस पर SSPU प्रशाशन अविलम्ब कार्रवाई करे अन्यथा NSUI तीव्र आंदोलन छेड़ेगा ऐसे पत्र द्वारा प्रशाशन को सूचित किया है।

 

 

 

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×